जय हिन्द दोस्तो ,स्वागत है आप सभी का The Guru Shala पर दोस्तों आज हम आपको ध्वनि क्या हैं उसकी विशेषताएं what is sound and its features बातयेगे तो चलिए शुरू करते है

ध्वनि क्या हैं? (What is Sound)

ध्वनि एक ऐसा कंपन है जिसे सुनने की शक्ति के आधार पर पहचाना जाता है| सामान्यतः हम उन वाइब्रेशंस को सुनते हैं जो हवा के जरिए एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाते हैं लेकिन ध्वनि गैस तथा तरल के जरिए भी चल सकते हैं| यह निर्वात के जरिए गमन नहीं करते जैसे कि बाहरी अंतरिक्ष में जब वाइब्रेशंस हमारे कानों तक पहुंचते हैं तो उन्हें तंत्रिका मनावेगों  में परिवर्तित कर दिया जाता है फिर मस्तिष्क में भेजा जाता है| जो हमें ध्वनि के मध्य अंतर करने की सुविधा देते हैं| ज्यादा तकनीकी भाषा में ध्वनि एक लचकदार पदार्थ में फैले हुए दबाव पार्टिकल डिस्प्लेसमेंट या पार्टिकल गति में होने वाला घटाव तथा बढाओ है|what is sound and its features

ध्वनि की विशेषताएं (Features/Attributes of Sound)

  • ध्वनि – आवृत्ति (Sound – Frequency)
  • ध्वनि – तरंग (Sound-Wavelength)
  • ध्वनि – आयाम (Sound – Amplitude)
  • ध्वनि – वेग (Sound – Velocity)

ध्वनि आवृत्ति (Sound – Frequency)

आवृत्ति किसी ध्वनि तरंग के कारण एक निश्चित बिंदु पर एक सेकंड में हवा के दबाव के कारण होने वाले दोलनो (Oscillations) की संख्या है| प्रति सेकंड एक दोलन चक्र एक हार्ट्स के समरूप होता है| आवृत्ति (Frequency) f की ध्वनि तरंग की तरंगदैर्घ्य और गति c पर यात्रा c / f द्वारा दी जाती है। 343 m / s की गति को देखते हुए, 20 kHz की ध्वनि तरंग में लगभग 17 मिमी की तरंग दैर्ध्य होती है

Join Here – नई PDF व अन्य Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Facebook Page को भी Join कर सकते हैं !

ध्वनि तरंग धैर्य (Sound-Wavelength)

तरंग धैर्य दो क्रमिक तरंग श्रंगों (crests)के मध्य दूरी है| अर्थात यह वह दूरी है जिसे तरंग एक चक्र के दौरान पूरा करता है|

ध्वनि की आवृत्ति सीमा कि वह रेंज है, जिसे मनुष्य से लेने की क्षमता रखता है 20 से 20000 हर्टज के मध्य है| यह रेंज हर व्यक्ति के लिए भिन्न होती है तथा सामान्यतः उम्र के साथ यह सीमा आकार में घटती जाती है| यह एक आसमान वक्र है 3500 हर्टज के आसपास की ध्वनि इससे ज्यादा अथवा कम आवृत्ति पर समान आयाम की ध्वनि की तुलना में ज्यादा प्रबल अनुभव होती है इस रेंज के ऊपर तथा नीचे की ध्वनि क्रमशः अल्ट्राध्वनि तथा इंफ्रासाऊंड होती है|what is sound and its features

ध्वनि आयाम (Sound – Amplitude)

ध्वनि का आयाम भी होता है इस विशेषता को तारत्व कहते हैं निष्क्रिय अथवा औसत स्थिति से हवा के दबाव द्वारा तरंग के डिस्प्लेसमेंट का माप ध्वनि का आयाम होता है| आयाम (Amplitude) तरंग के भीतर ध्वनि दबाव परिवर्तन का परिमाण है, या मूल रूप से, ध्वनि तरंग में किसी भी बिंदु पर अधिकतम दबाव है। एक ध्वनि तरंग का शाब्दिक रूप से कुछ बिंदुओं पर दबाव बढ़ने से होता है, उच्च दबाव बिंदु ऊपर उल्लिखित क्रैस्ट हैं, और उनके पीछे कम दबाव बिंदु हैं जो उन्हें पूंछते हैं। आयाम (Amplitude) पदार्थ के कणों का अधिकतम विस्थापन है जो संपीड़ितों में प्राप्त होता है, आयाम (Amplitude) को अक्सर ध्वनि दबाव स्तर के रूप में संदर्भित किया जाता है और डेसीबल में मापा जाता है।what is sound and its features

ध्वनि – वेग (Sound – Velocity)

ध्वनि का प्रसार गति उस माध्यम के प्रकार, तापमान और दबाव पर निर्भर करता है जिसके माध्यम से वह प्रचार करता है। सामान्य परिस्थितियों में, हालांकि, क्योंकि हवा लगभग एक आदर्श गैस है, ध्वनि की गति हवा के दबाव पर निर्भर नहीं करती है। शुष्क हवा में 20 ° C (68 ° F) पर ध्वनि की गति लगभग 343 m / s (लगभग 1 मीटर प्रत्येक 2.9 मिलीसेकंड) है। ध्वनि की गति तरंगदैर्ध्य की आवृत्ति (Frequency) से संबंधित है।

 

आपके आने वाले Exams के लिये आप सभी को The गुरुशाला की तरफ़ से All The Best ! और इस Post को अधिक से अधिक Facebook व Whatsapp पर शेयर कीजिये ! क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा

Related Posts

One thought on “ध्वनि क्या हैं और उसकी विशेषताएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

google-site-verification: googlef37acb6f1be7cf5e.html