जय हिन्द दोस्तो ,स्वागत है आप सभी का The Guru Shala पर दोस्तों आज हम आपको अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखाओं की सूची और वर्गीकरण (important international boundary lines) ! सामान्य विज्ञान के बारे में बतायेगे तो चलिए शुरू करते है

अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखाओं की सूची


वे रेखाएं जो दो संप्रभु (Sovereign) देशों को अलग करती हैं अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखाएं कहलाती हैं | वास्तव में सीमा रेखा ऐसी रेखा है जो किसी भी देश की अधिकारिता और संप्रभुता के अधिकतम विस्तार को दर्शाती है | इन सीमा रेखाओं का निर्धारण भौगोलिक इकाई (जैसे-नदी, पर्वत, झील, दलदल आदि), देशांतर रेखा, अक्षांश रेखा आदि के सहारे किया जाता है | वर्तमान में जिस तरह से सीमा रेखाओं का निर्धारण हुआ है वह नवीन संकल्पना है क्योंकि आधुनिक काल से पूर्व सीमा रेखाओं के स्थान पर ‘सीमान्त (Margins)’ पाए जाते थे अर्थात एक ऐसा क्षेत्र होता था जिसके सहारे दो देशों या राज्यों की संप्रभुता का अंत होता था लेकिन जैसे-जैसे भूमि व अन्य संसाधनों की मानवीय जरुरत बढ़ती गयी सीमान्त सिकुड़कर सीमा रेखाओं में बदल गए |important international boundary lines


अंतर्राष्ट्रीय सीमा


 डूरंड रेखा (Durand Line) 

रेखा का नाम – डूरंड रेखा (Durand Line)
देशों के मध्य – पाकिस्तान तथा अफगानिस्तान
1886 में सर मार्टिमर डूरंड द्वारा निर्धारित।

मैकमाहोन रेखा (Macmahon Line)

रेखा का नाम – मैकमाहोन रेखा (Macmahon Line)
देशों के मध्य – भारत तथा चीन
1120 किमी. लंबी यह रेखा सर हेनरी मैकमोहन द्वारा निर्धारित की गई थी। लेकिन चीन इसे स्वीकार नहीं करता।

रेडक्लिफ रेखा (Radcliffe Line)

रेखा का नाम – रेडक्लिफ रेखा (Radcliffe Line)
देशों के मध्य – भारत तथा पाकिस्तान
1947 में भारत-पाकिस्तान सीमा आयोग के अध्यक्ष सर सायरिल रेडक्लिफ द्वारा निर्धारित।

17 वीं समानांतर रेखा (17th Parallel)

रेखा का नाम – 17 वीं समानांतर रेखा (17th Parallel)
देशों के मध्य – उत्तरी वियतनाम तथा द. वियतनाम
वियतनाम के एकीकरण के पहले यह देश को दो भागों में बांटती थी।

Join Here – नई PDF व अन्य Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Facebook Page को भी Join कर सकते हैं !

24 वीं समानांतर रेखा (24th Parallel)

रेखा का नाम – 24 वीं समानांतर रेखा (24th Parallel)
देशों के मध्य – भारत तथा पाकिस्तान
पाकिस्तान के अनुसार कच्छ क्षेत्र का यह रेखा सही निर्धारण करती है लेकिन भारत इस रेखा को स्वीकार नहीं करता है।

38 वीं समानांतर रेखा (38th Parallel)

रेखा का नाम – 38 वीं समानांतर रेखा (38th Parallel)
देशों के मध्य – उत्तर कोरिया तथा दक्षिण कोरिया
कोरिया को दो भागों में बांटती है।

49 वीं समानांतर रेखा (49th Parallel)

रेखा का नाम – 49 वीं समानांतर रेखा (49th Parallel)
देशों के मध्य – अमेरिका तथा कनाडा
अमेरिका तथा कनाडा को दो भागों में बांटती है।

हिंडनबर्ग रेखा (Hindenburg Line)

रेखा का नाम – हिंडनबर्ग रेखा (Hindenburg Line)
देशों के मध्य – जर्मनी तथा पोलैंड
प्रथम विश्व युद्ध में जर्मनी की सेना यहीं से वापस लौटी थी।

ओडरनास रेखा (Order-Neisse Line)

रेखा का नाम – ओडरनास रेखा (Order-Neisse Line)
देशों के मध्य – जर्मनी तथा पोलैंड
द्वितीय विश्व युद्ध के बाद निर्धारित की गई।

मैगिनाट रेखा (Maginot Line)

रेखा का नाम – मैगिनाट रेखा (Maginot Line)
देशों के मध्य – जर्मनी तथा फ्रांस
जर्मनी के आक्रमण से बचाव के लिए फ्रांस ने यह रेखा बनाई थी।

सीजफ्राइड रेखा (Seigfrid Line)

रेखा का नाम – सीजफ्राइड रेखा (Seigfrid Line)
देशों के मध्य – जर्मनी तथा फ्रांस
जर्मनी ने यह रेखा बनाई थी !!


सीमा रेखाओं का वर्गीकरण


उत्पत्ति के आधार पर सीमा रेखाओं को निम्नलिखित वर्गों में बाँटा जाता है-

1. अध्यारोपित (Superimposed) सीमा रेखाएं : ये ऐसी सीमा रेखाएं है जिनका निर्धारण वहां के निवासियों के द्वारा न होकर किसी बाहरी शक्ति (जैसे औपनिवेशिक सत्ता) ने किया था |important international boundary lines

2. अवशेषी (Relic) सीमा रेखाएं : ऐसी सीमा रेखाएं जिनकी राजनीतिक मान्यता तो वर्तमान में समाप्त हो गयी  है लेकिन समाज में वे अभी भी वास्तविक रूप से बनी हुई हैं |

3. पूर्ववर्ती (Antecedent) सीमा रेखाएं : जिन सीमा रेखाओं का निर्धारण वहां के समाज के विकसित होने से पूर्व ही हो गया होता है उन्हें पूर्ववर्ती सीमा रेखाएं कहते हैं |

4. परवर्ती (Subsequent) सीमा रेखाएं : जिन सीमा रेखाओं का निर्धारण वहां के समाज के विकसित होने के बाद होता है उन्हें परवर्ती सीमा रेखाएं कहते हैं |

 ये भी पढ़े  : –

चंद्रमा से संबंधित महत्वपूर्ण परीक्षापयोगी तथ्य

ज्वार-भाटा किया है – Tide ebb

ज्‍वालामुखी से संबंधित महत्वपूर्ण परीक्षापयोगी तथ्य

भारतीय संविधान के महत्वपूर्ण संविधान संशोधन 

Science Most Important Questions and Answer in Hindi !

आपके आने वाले Exams के लिये आप सभी को The गुरुशाला की तरफ़ से All The Best ! और इस Post को अधिक से अधिक Facebook व Whatsapp पर शेयर कीजिये ! क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

google-site-verification: googlef37acb6f1be7cf5e.html