भारत में नियोजन – Planning in india

 

जय हिन्द दोस्तो ,  स्वागत है आप सभी का The Guru Shala  पर आज हम आपको भारत में नियोजन – Planning in india बताने जा रहे हैं , जो की Complete Topic Wise रहेगा जिसमे  हम  आपको  Topic  complete  होने  पर उस Topic के Importent MCQ देगे जिसका आने बाले सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में पूंछे जाने की पूरी पूरी संभावना है ! तो आप सभी से निवेदन है कि इसे अच्छे से पढिये और याद कर लीजिये !

Join Here – नई PDF व अन्य Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Telegram Channel को भी Join कर सकते हैं !

नियोजन की परिभाषा :

  • प्रबंध के क्षेत्र में नियोजन से आशय वैकल्पिक उद्देश्यों, नीतियों तथा कार्यक्रमों में सर्वश्रेष्ट का चयन करना है।

 नियोजन से आशय :

  • नियोजन भविष्य में किये जाने वाले कार्य के संबंध में निर्धारित करता है कि निर्धारित कार्य को कब किया जाय, किस समय किया जाय, कार्य को कैसे किया जाय, कार्य में किन साधनों का प्रयोग किया जाय, कार्य कितने समय में हो जायेगा आदि।

 नियोजन का उदाहरण :

          श्री शिवम से उनके व्यावसायिक सहयोगी श्री सत्यम किसी कार्य के संबंध में मिलना चाहते है। श्री शिवम द्वारा उनसे मिलने के संबंध में निम्नलिखित बातोँ का निर्धारण नियोजन ही है।

  • सत्यम से किस दिन मिला जाय ?
  • किस समय मिला जाय ?
  • कहा मिला जाय ?
  • किस संबंध में मिलना चाहिये ?
  • किन बातोँ पर विचार विमर्श करना है ?
  • विचार विमर्श में किसको शामिल किया जाय ? आदि। Planning in india

          इस प्रकार किसी भी कार्य को करने से पहले उसके संबंध में सब कुछ पूर्व निर्धारित करना नियोजन कहलाता हैA        

    नियोजन का आशय पूर्वानुमान नहीँ है अपितु यह किसी कार्य को करने से ही निर्णय की आवयश्कता पड़ती है A जो कि नियोजन पर ही आधारित होता हैA

Join Here – नई PDF व अन्य Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Facebook Page को भी Join कर सकते हैं !

भारत में नियोजन की शुरुआत :

  • भारत एक उपनिवेशिक अर्थव्यवस्था था जहां प्रत्येक कार्य केवल ब्रिट्रिश हितों को ध्यान में रखकर किया जाता था।
  • सबसे पहले नियोजन की बात 1934 में सर मोक्षगुंडम विश्वेशरैया जी ने की थी।
  • इन्होने अपनी पुस्तक Planned Economy of India में इस बात को रखा था।

योजना आयोग :

  • के. सी. नियोगी समिति का गठन 1946 में किया गया। Planning in india
  • पूरा नाम : क्षितिश चंद्र नियोगी
  • इसी समिति की अनुसंशा पर 15 मार्च 1950 को एक गैर संवैधानिक निकाय बनाया गया जिसे हम योजना आयोग के नाम से जानते थे।
  • योजना आयोग ने अपनी पंचबर्षीय योजना 1 अप्रैल 1951 से प्रारंभ की थी।

नीति आयोग : 

  • NITI का पूरा नाम : National Institution for Transforming India
  • उपनाम : Policy Think Tank Planning in india
  • 1 जनबरी 2015 को इसका का नाम परिवर्तित कर नीति आयोग कर दिया गया।
  • नीति आयोग का पदेन अध्यक्ष प्रधानमत्री होता है।

राष्ट्रीय विकास परिषद (NDC) :

  • पूरा नाम : National Development Council
  • स्थापना : 6 अगस्त 1952
  • केंद्र व राज्य के बीच मध्यस्ता बनाने के लिए एवम् योजना तैयार करने के लिए दोनों के साथ कार्य करना अनिवार्य है, इसलिए राष्ट्रीय विकास परिषद की स्थापना की गई।
  • इसका पदेन अध्यक्ष प्रधानमत्री होता है।
  • यह एक गैर संवैधनिक निकाय है।

ALL GK TRICKS 

  GEOGRAPHY 

आपके आने वाले Exams के लिये आप सभी को The गुरुशाला की तरफ़ से All The Best ! और इस Post को अधिक से अधिक Facebook व Whatsapp पर शेयर कीजिये ! क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *