अर्थशास्त्र (Economics Introduction )

जय हिन्द दोस्तो ,  स्वागत है आप सभी का The Guru Shala  पर आज हम आपको अर्थशास्त्र (Economic Introduction ) बताने जा रहे हैं , जो की Complete Topic Wise   रहेगा जिसमे  हम  आपको  Topic  complete  होने  पर उस Topic के  Importent MCQ देगे  जिसका  आने बाले सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में पूंछे जाने की पूरी पूरी संभावना है ! तो आप सभी से निवेदन है कि इसे अच्छे से पढिये और याद कर लीजिये !

अर्थशास्त्र की परिभाषा:

  • अर्थशास्त्र एक मानव विज्ञान है, जिसके अंतर्गत वस्तु एवं सेवाओ के उत्पादन, विवरण और उपभोग का अध्ययन किया जाता है।

मानव विज्ञान क्या है ?

  •  वह विज्ञान जिस पर मानव का प्रभाव पड़ता है, मानव विज्ञान कहलाता है।

मूल शब्द की उत्पत्ति:

  • Economics की उत्पत्ति लैटिन या ग्रीक भाषा के Oikonomia शब्द से हुई, जिसका शाब्दिक अर्थ है गृह प्रबंध।

अर्थशास्त्र शब्द की उत्पत्ति:

  • अर्थशास्त्र शब्द एक तत्सम शब्द है जिसकी उत्पत्ति संस्कृत शषा से हुई है।

अर्थशास्त्र का शाब्दिक अर्थ:

  •  अर्थशास्त्र शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है अर्थ + शास्त्र। जहा अर्थ का तात्पर्य मुद्रा या धन से है और शास्त्र का तात्पर्य क्रमबध्द्र ज्ञान से है अर्थात अर्थशास्त्र का शाब्दिक अर्थ है मुद्रा या धन का क्रमबध्द्र ज्ञान।

Join Here – नई PDF व अन्य Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Facebook Page को भी Join कर सकते हैं !

अर्थशास्त्र के प्रकार:

1: समष्टि अर्थशास्त्र (Micro Economics) :

  •  इसमें घरेलू एवं व्यापार स्तर की अर्थव्यवस्था का अध्ययन किया जाता है।
  •  प्रो. जान मेनार्ड कीन्स को इसका प्रणेता या जनक कहा जाता है।

2: व्यष्टि अर्थशास्त्र (Macro Economics) :

  •   इसमें देष स्तर की अर्थव्यवस्था का अध्ययन किया जाता है।
  •   जैसे मुद्रास्फिति, बेरोजगारी, आर्थिक संवृध्दि, मूल्य में कमी आदि।
  •   प्रो. एडम स्मिथ को इसका प्रणेता या जनक कहा जाता है। 

अर्थशास्त्र का विकास क्रम

अर्थशास्त्र के विकास की मान्यता

  •  शरतीय मान्यता अनुसार लगभग 2300 ई.पू. चाणक्य ने अर्थशास्त्र की खोज की थी।
  •  इतिहासकारों ने चाणक्य के स्थान पर कौटिल्य एवं विष्णुगुप्त शब्द का भी प्रयोग किया है।

प्रो. एडम स्मिथ:

  •  मूल स्थान: एडिनबर्थ, युनाइटेड किंगडम
  •  प्रांरभ में अर्थशास्त्र को एक प्रथक विषय के रूप में मान्यता प्राप्त नहीं थी।
  •  18 वीं शताब्दीं में प्रो. एडम स्मिथ के प्रयास से अर्थशास्त्र को सामाजिक विज्ञान से बाहर   निकालकर एक पृथक विषय के रूप में मान्यता प्राप्त हुई।
  •  प्रो. एडम स्मिथ का अर्थशास्त्र का प्रणेता या जनक भी कहा जाता है।
  •  पुस्तक: Wealth of Nations (1776)
  •  परिभाषा: अर्थशास्त्र धन का विज्ञान है।
  •  अर्थशास्त्र की एक पृथक शाखा के रूप में व्यष्टि अर्थशास्त्र को प्रारभ करने का श्रेय इनको ही जाता है।

प्रो. एल्फ्रेड मार्षल:

  •  मूल स्थान: लंदन, युनाइटेड किंगडम
  •  धन के साथ साथ लोक कल्याण की भी बात की।
  •  19 वीं शताब्दीं के प्रारभं में प्रो. एल्फ्रेड मार्षल ने अपनी पुस्तक के माध्यम से कल्याण शब्द को शामिल किया।
  •  पुस्तक: Theories of Economics (1890)

प्रो. जान मेनार्ड कीन्स:

  •  सन् 1930 के दषक की वैश्वीक मन्दी के समाधान का सुझाव दिया था कि मन्दी की समस्या का समाधान अर्थव्यस्था में छिपा है।
  •  पुस्तक: The General Theory of Employment Interest and Money
  •  अर्थशास्त्र की एक पृथक शाखा के रूप में समष्टि अर्थशास्त्र को प्रारभ करने का श्रेय   इनको ही जाता है।

Join Here – नई PDF व अन्य Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Telegram Channel को भी Join कर सकते हैं ! 

प्रो. लियोनेल चाल्र्स रोबिन्स:

  •  मूल स्थान: सिप्सन, इंग्लैड़
  •  उपनाम: बैरोन राबिन्स
  •   19 शताब्दी के अंत प्रो. लियोनेल चाल्र्स रोबिन्स ने अपनी परिभाषा के माध्यम से एक नया शब्द अर्थशास्त्र की परिभाषा में शामिल किया जो कि चयन एवं दुर्लभता था अर्थात किसका उपयोग करें किसका नहीं।
  • पुस्तक: Nature and Significance of Economics Science (सन 1936)

आधुनिक अर्थशास्त्र:

  • 20 वीं शताब्दी में प्रत्येक देष में एक दुसरे से आगे आने की प्रतिस्पर्धा प्रारंभ हुई जिसके कारण अर्थव्यवस्था के मापन के लिए आधुनिक अर्थशास्त्र मेें तीन पैमाने निर्धारित किये गये:

(i) अल्प विकसित (ii) विकासषील (iii) विकसित 

economic introduction

अर्थशास्त्र (Economic Introduction ) MCQ – TEST

आपके आने बाले Exams के लिये आप सभी को The Guru Shala की तरफ़ से All The Best ! और प्लीज इस Post को अधिक से अधिक Facebook व Whatsapp पर शेयर कीजिये

ALL GK TRICKS 

  GEOGRAPHY 

economic introduction

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *