अर्थव्यवस्था का वर्गीकरण एवं अर्थव्यवस्था के क्षेत्र – (Classification of economy Or Sectors of economy)

जय हिन्द दोस्तो ,  स्वागत है आप सभी का The Guru Shala  पर आज हम आपको अर्थव्यवस्था का वर्गीकरण एवं अर्थव्यवस्था के क्षेत्र – (Classification of economy Or Sectors of economy) बताने जा रहे हैं , जो की Complete Topic Wise   रहेगा जिसमे  हम  आपको  Topic  complete  होने  पर उस Topic के  Importent MCQ देगे  जिसका  आने बाले सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में पूंछे जाने की पूरी पूरी संभावना है ! तो आप सभी से निवेदन है कि इसे अच्छे से पढिये और याद कर लीजिये !

अर्थव्यवस्था की परिभाषा: 

किसी राष्ट्र द्रारा अपने नागरिकों की सामाजिक एवं आर्थिक स्थिति में सुधार के उद्देष्य से उपलब्ध संसाधनों का समुचित नियोजन करते हुए अर्थ को केन्द्र में रखकर बनाई गई व्यवस्था ही अर्थव्यवस्था कहलाती है।

Join Here – नई PDF व अन्य Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Telegram Channel को भी Join कर सकते हैं !

अर्थव्यवस्था का वर्गीकरण:

1.सरकार की भूमिका के आधार पर

       i.पूजीवादी अर्थव्यवस्था (Capitalized Economy)

       ii.समाजवादी अर्थव्यवस्था (Socialist Economy)        

      iii.मिश्रित अर्थव्यवस्था (Mixed Economy)

2.बाहरी विश्व के संबंधों आधार पर

     i खुली अर्थव्यवस्था (Open Economy)

    iiबंद अर्थव्यवस्था (Closed Economy)

 

3.विकास की अवस्था के आधार पर

    i.विकसित अर्थव्यवस्था (Developed Economy)

    ii विकासशील अर्थव्यवस्था (Developing Economy)

    iii अविकसित अर्थव्यवस्था (Under Developed Economy)

(1) सरकार की भूमिका के आधार पर:

(I) पूंजीवादी अर्थव्यवस्था:

  • उपनाम: उदारवादी अर्थव्यवस्था
  • मांग एवं पूर्ति पर आधारित।
  • आर्थिक क्रियाओं को बाजार शक्तियों पर छोडना।
  • यह व्यवस्था प्रो. एडम स्मिथ द्वारा प्रतिपादित अहस्तक्षेप के सिध्दांत पर कार्य करती है अर्थात इसमें सरकारी हस्तक्षेप नहीं होता है।
  • निजी स्वामित्व की अवधारणा पर भी आधारित है।
  • प्रतियोगिता पर बल दिया जाता है।
  • अधिकांष विकसित देषों ने पूंजीवादी अर्थव्यवस्था को ही अपनाया है जैसे अमेरिका, फ्रांस आदि।

(ii) समाजवादी अर्थव्यवस्था:

  • संसाधनों पर सरकार का पूर्ण नियंत्रण होता है।
  • उत्पादन आवष्यकताओं के अनुसार किया जाता है।
  • उत्पादन एवं मूल्य पर सरकार का नियंत्रण होता है।
  • निजी स्वामित्व की अवधारणा नहीं होती है।
  • इसका उद्देष्य लोक कल्याण की भावना को ध्यान में रखते हुए समावेषी संवृध्दि करना होता है।
  • इसमें प्रत्यक्ष विदेषी निवेष नहीं होता है।

(iii) मिश्रित अर्थव्यवस्था:

  • मिश्रित अर्थव्यवस्था में पंूजीवादी एवं समाजवादी दोनों अर्थव्यवस्थों की बिषेषताएँ होती है।
  • इसमें सार्वजनिक व निजी दोनों क्षेत्र देष के आर्थिक विकास में परस्पर सहयोगी होते है।
  • भारत मिश्रित अर्थव्यवस्था का एक अच्छा उदाहरण है।
  • मिश्रित अर्थव्यवस्था की संकल्पना सन् 1929 की महामंदी के कारण उत्पन्न समस्याओं के समाधान के रूप में ब्रिटिष अर्थषास्त्री जॉन मेनार्ड कीन्स के विचारों से प्रेरित थी।

   (2) बाहरी विश्व के संबंधों आधार पर:

 (i) बंद अर्थव्यवस्था:

  • ऐसी अर्थव्यवस्था जो शेष विष्व के साथ संबंध के प्रति उदासीन होती है।
  • आत्मनिर्भरता पर बल देते हुए संरक्षणवाद के सिध्दांत पर कार्य करती है।
  • इसमें आयात निर्यात ना के बराबर या अत्याधिक सरकारी नियंत्रण में होता है।
  • 1991 के पूर्व का भारत इसका श्रेष्ठ उदाहरण है।

(ii) खुली अर्थव्यवस्था:

  • ऐसी अर्थव्यवस्था जहाँ आयात निर्यात पर कोई प्रतिबंध नहीं होता है।
  • ऐसी अर्थव्यवस्था LPG के सिध्दांत पर कार्य करती है।

 L : Liberalization (उदारीकरण)                            

 P : Privatization (निजीकरण)

 G : Globalization (वेश्विकरण)

(3) विकास की अवस्था के आधार पर:

(i) विकसित अर्थव्यवस्था:

  • ऐसी अर्थव्यवस्था जहां उपलब्ध सभी संसाधनों का पूर्ण दोहन कर लिया गया है।
  • ऐसी अर्थव्यवस्था की प्रति व्यक्ति आय 12476 डालर या उससे अधिक होती है।
  • जैसे: अमेरिका, कनाडा, इग्लैण्ड, जर्मनी, फ्रांस, इटली, रूस, जापान आदि।

(ii) विकासशील अर्थव्यवस्था:

  • ऐसी अर्थव्यवस्था जहाँ अभी औद्योगिकरण की प्रक्रिया अभी चल रही है।
  • जहाँ उपलब्ध संसाधनों का पूर्ण दोहन नहीं हो पाया है।
  • ऐसी अर्थव्यवस्था में कृषि क्षेत्र की आय का हिस्सा घटा रहता है और उद्योग और सेवा क्षेत्र का हिस्सा बडा रहता है।
  • ऐसे देषों में प्रति व्यक्ति आय 1056 डालर से 12475 डालर तक होती है।
  • जैसे चीन, भारत, ब्राजील आदि।

(iii) अविकसित अर्थव्यवस्था:

  • ऐसी अर्थव्यवस्था जहा अभी तक विकास कार्य प्रारंभ नही हुआ है।
  • जैसे यमन, सीरिया आदि।

Join Here – नई PDF व अन्य Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Facebook Page को भी Join कर सकते हैं !

अर्थव्यवस्था के क्षेत्रक

(1) प्राथमिक क्षेत्रक (Primary Sector)

(2) द्वितीयक क्षेत्रक (Secondary Sector)

(3) तृतीयक क्षेत्रक (Tertiary Sector)Classification of economy 

(1) प्राथमिक क्षेत्रक

  • ऐसे क्षेत्र की गतिविधियों को शामिल किया जाता है जो प्रकृति पर निर्भर होती है।
  • इसमें मुख्य रूप से कृषि क्षेत्र आता है इसलिए इसे कृषि क्षेत्रक भी कहा जाता है।
  • उपनाम: प्रधान क्षेत्रक, कृषि क्षेत्रक, सम्बध्द क्षेत्रक, 1० क्षेत्रक
  •  जैसे:

            कृषि (Agriculture)               मुर्गीपालन (Poultry) 

            पशुपालन (Animal Husbandry)     दुध डेयरी (Milk Dairy)

            बागवानी (Animal Husbandry)       मत्स्य पालन (Fishneries)            

            खनन ( ऊध्र्वादर खुदाईद् ) (Mining or Drilling)             

           उत्खनन ( क्षैतिज खुदाईद्ध ) (Excavation or Quarring).

   (2) द्वितीयक क्षेत्रक:

  • अर्थव्यवस्था का वह क्षेत्र, जहाँ प्राथमिक क्षेत्रक के उत्पादों को अपनी गतिविधियों के रूप में उपयोग करता है।
  • इसमें मुख्यतः उद्योग आते है इसलिए इसे उद्योग क्षेत्रक भी कहा जाता है।
  • उपनाम: गौण क्षेत्रक, विनिर्माण क्षेत्रक, उद्योग क्षेत्रक, 2० क्षेत्रक
  • जैसे:

  (i) निर्माण (Construction) जहाँ स्थायी सम्पत्ति का निर्माण किया जाता है, उदाहरण          स्वरूप:  भवन, बाँध आदि।

(ii) विनिर्माण (Manufecturing)  जहाँ वस्तु का उत्पादन हो, उदाहरण स्वरूप: कपडा, रोटी आदिै

(iii) विघुत, गैस सप्लाई एवं जलपूर्ति आदि से संबंधित कार्य।

(3) तृतीयक क्षेत्रक:

  • इसमें विभिन्न प्रकार की सेवायें प्रदान की जाती है इसलिए इसे सेवा क्षेत्रक भी कहा जाता है। Classification of economy 
  • उपनाम: सेवा क्षेत्रक, प्रषासनिक क्षेत्रक, 3० क्षेत्रक
  • यह क्षेत्रक अर्थव्यवस्था के प्राथमिक व द्वितीयक क्षेत्रक को अपनी सेवाएँ  प्रदान करता है।

जैसे:

 परिवहन (Transport)         संचार(Communication)   

  बीमा  (Insurance)            श्ण्डारण (Storage)    

  व्यापार (Businss)              बैंकिग (Banking) 

  पर्यटन (Turisum)             शिक्षा (Education)        

 चिकित्सा (Medical)        अंकेक्षण(Audit)

 सूचना तकनीकी (Information Techonology)

आपके आने बाले Exams के लिये आप सभी को The Guru Shala की तरफ़ से All The Best ! और प्लीज इस Post को अधिक से अधिक FacebookWhatsapp पर शेयर कीजिये

ALL GK TRICKS 

  GEOGRAPHY 

Classification of economy 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *